breaking post New

लगातार हो रही चाकूबाजी, देर रात तक पब व बार खुले रहने समेत छह सूत्रीय समस्याओं को लेकर एनएसयूआई का हल्लाबोल.. कलेक्टर से की ये मांग..

छत्तीसगढ़ टाइम्स डॉट कॉम । बिलासपुर

लगातार चाकूबाजी एवं अवैध नशे के व्यापार पर रोक लगाने के साथ 6 सूत्रीय मांगों को लेकर मंगलवार को एनएसयूआई कार्य.जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह के नेतृत्व में बिलासपुर कलेक्टर सौरभ कुमार को ज्ञापन सौंपा गया।
6 सूत्रीय मांगों में:-

1. पब/बार :- जिले में संचालित पब/बार को बंद करने हेतु नियमतः लगभग रात्रि 11:00 से 12:00 बजे तक की समय सीमा तय की गई है, परंतु पुलिस और प्रशासन का मजाक उड़ाते हुए से ऐसे बार लगभग सारी रात में नशा परोसते हैं,जिसकी चपेट में नाबालिक बच्चे और स्कूल और कॉलेजों में पढ़ाई करने वाले बच्चे आ रहे हैं जिससे अभिभावक एवं माता-पिता बेहद चिंतित हैं।

2.  ड्रग्स :- जिले में ड्रग्स जैसे खतरनाक नशीले पदार्थ का व्यापार भी शुरू हो चुका है कई पब/बारों में इसका सेवन कराया जा रहा है जो कि भविष्य में युवा पीढ़ी के लिए बेहद खतरनाक और जानलेवा साबित होगी।
3. कोरेक्स/नशीली दवाईयाँ :- जिले में लगातार कोरेक्स जैसे अवैध नशीली दवाई का व्यापार दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है जिस पर लगाम लगाना बेहद जरूरी है शहर में अधिकतर अपराध कोरेक्स से अवैध नशीले दवाई का सेवन करने के बाद हो रहे हैं।

4.  चाकूबाजी :- जिले में चाकूबाजी की घटना भी प्रतिदिन देखी जा रही है अपराधियों में पुलिस तथा प्रशासन का कोई भय नहीं रह गया है खासकर युवा वर्ग कई ऐसे अपराधों में संलिप्त हो रहे हैं जिस पर  रोक लगाना बेहद जरूरी है।

5. अवैध बन्दूक/हथियार :- जिले में कई बड़े-बड़े अपराधिक समूह हैं जो कई बड़े व्यक्तियों के द्वारा संचालित किए जा रहे हैं उन सभी अपराधिक समूहों के संचालकों द्वारा बिना लाइसेंस की अवैध बंदूक बिहार का इस्तेमाल आम जनता तथा कमजोर वर्ग के लोगों को डरा कर जान से मारने की धमकी देकर अपना वर्चस्व स्थापित करने के लिए किया जाता है साथ ही पैसे वसूलने और गैर कानूनी काम करने हेतु किया जाता है।

6. अवैध चखना दुकानों का संचालन :- जिले में संचालित सभी शराब दुकानों के बाहर अवैध तरीके से चखना की दुकान चलाई जाती हैं जिसे तत्काल कार्यवाही कर बंद किया जाना चाहिए क्योंकि शहर में हो रहे अधिकांश अपराध यही से शुरू होते हैं।

एनएसयूआई कार्य. जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह ने कहा कि जिले में अधिकांश पब/बार में प्रशासन के नियमों को दरकिनार कर अवैध नशीली सामग्रियों का व्यापार रात भर धड़ल्ले से चल रहा है,शहर में ड्रग्स एवं कोरेक्स जैसी नशीली दवाओं का व्यापार भी बढ़ते जा रहा है तथा शहर में चाकूबाजी तो जैसे आम बात हो गयी है प्रतिदिन नए नए प्रकार के हथियार अपराधियों द्वारा ऑनलाइन पद्धति से मंगाकर उनसे हत्या जैसे अपराधों को अंजाम दिया जा रहा है,बीते सिर्फ जुलाई माह में धारदार हथियार से हुए कुल 20 अपराध दर्ज किए गए हैं,साथ ही शहर के बड़े बड़े आपराधिक समूहों के संचालकों द्वारा अवैध बंदूक का दुरुपयोग वर्चस्व की लड़ाई के लिए किया जा रहा है इन सभी अपराधों पर शीघ्र ही कठोर कदम उठाने की आवश्यकता है।

कार्य.जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह ने शहर में संचालित सभी शराब दुकानों के बाहर अवैध तरीके से चल रहे चखना दुकानों को तत्काल बंद करने का आग्रह किया है क्योंकि रंजीत सिंह का कहना है कि ऐसे चखना दुकानों में ही अधिकांश असामाजिक तत्वों एवं अपराधियों का जमावड़ा लगा रहता है,शहर में हो रहे अधिकांश अपराधों का केंद्र बिंदु भी ये अवैध चखना दुकान ही हैं,जिस पर त्वरित कार्यवाही करते हुए इसे तत्काल बन्द किया जाना अतिआवश्यक है।

कार्य.जिलाध्यक्ष रंजीत सिंह ने उन सभी लोगों पर जो प्रशासन के नियम कानून की धज्जियाँ उड़ाकर प्रशासन का मख़ौल उड़ाने की हिम्मत कर रहे हैं ठोस कदम उठाते हुए कड़ी कार्यवाही करने की मांग की साथ ही कहा कि यदि इस विषय को गंभीरता से न लेकर इस पर कार्यवाही नही किया जाता तो एनएसयूआई आगे उग्र आंदोलन करेगी जिसकी पूरी जवाबदारी प्रशासन की होगी। जब इन सभी अपराधों पर कार्यवाही कर इन्हें कड़ी सजा दी जाएगी तब जाकर बिलासपुर की आम जनता,अभिभावक भयमुक्त तथा छात्र छाएं एवं युवा वर्ग अपना सुनहरा भविष्य बनाने में सफल होगी।

आज ज्ञापन सौंपने में मुख्य रूप से कार्य.जिलाध्यक्ष एनएसयूआई रंजीत सिंह, विकास ठाकुर प्रदेश  महासचिव एनएसयूआई, बिट्टू साहू यूथ कांग्रेस, रंजेश सिंह जिला महासचिव एनएसयूआई ,सिद्धार्थ तिवारी राष्ट्रीय संयोजक एनएसयूआई ,तरुण यादव,विपिन साहू,सुमित शुक्ला आदि एनएसयूआई छत्र प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Comments